हरिद्वार / महामंडलेश्वर स्वामी नरसिंहानंद गिरी द्वारा आगामी 17 अट्ठारह और 19 दिसंबर को हरिद्वार मैं एक धर्म संसद आयोजित करने जा रहे हैं जिसकी तैयारियों को लेकर महामंडलेश्वर स्वामी नरसिंहानंद गिरी की अध्यक्षता में एक बैठक का आयोजन किया गया।

बैठक के उपरांत महामंडलेश्वर स्वामी नरसिंहानंद गिरी ने पत्रकारों से वार्ता करते हुए कहा कि हिंदू धर्म के अस्तित्व की रक्षा के लिए और समाज के समन्वय हेतु धर्म संसद का आयोजन किया जा रहा है धर्म संसद में सनातन धर्म के सभी संप्रदायों के धर्मगुरुओं सहित देश के सभी हिंदू संगठनों के कार्यकर्ताओं को आमंत्रित किया जाएगा ताकि आने वाले समय में गैर हिंदू संगठनों के खतरे का सामना संगठित रूप में किया जा सके। यहां उन्होंने आईएसआईएस के वॉइस ऑफ हिंद के कवर पृष्ठ पर दुनिया की विशालतम प्रतिमाओं में से एक मुरुदेश्वर महादेव की प्रतिमा को खंडित दिखाकर और प्रतिमा के शीर्ष पर आईएसआईएस का झंडा दिखाकर अपने जो इरादे प्रकट किए हैं उसका कड़े शब्दों में निंदा करते हुए विरोध किया।

error: Content is protected !!